अंतर्राष्ट्रीय

पद्मजा नायडू हिमालयन जूलॉजिकल पार्क

पद्मजा नायडू हिमालयन जूलॉजिकल पार्क

"लाल पांडा, हिम तेंदुए, तिब्बती वुल्फ" और पूर्वी हिमालय के लुप्त होते जानवरों की प्रजातियों को संरक्षण प्रदान करता "पद्मजा नायडू हिमालयन जूलॉजिकल पार्क" (Padmaja naidu himalayan zoological park), दार्जिलिंग में स्थित है। यह भारत का एकमात्र चिड़ियाघर है जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इन लुप्त प्रजातियों के संरक्षण प्रजनन कार्यक्रम को चलाने के लिए जाना जाता है। जानवरों को देखने के साथ-साथ लोगों को यहां हिमालय के इको सिस्टम के संरक्षण के महत्व के बारे में भी जानकारी मिलती है।

दार्जिलिंग चिड़ियाघर देश के सबसे अधिक ऊंचाई वाले चिड़ियाघरों में से एक है। 7,000 फुट की ऊंचाई पर स्थित यह चिड़ियाघर 67.5 एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ है। हिमालयी जानवरों के संरक्षण और वृक्षारोपण के लिए दार्जिलिंग चिड़ियाघर को ब्रिटिश सरकार द्वारा प्रतिष्ठित अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार "अर्थ हीरोज 2014"(Earth Heroes Award) से भी नवाज़ा जा चुका है। इस चिड़ियाघर में पर्यटक पेड़-पौधे, झाड़ियाँ, औषधीय पौधों आदि की 200 से अधिक प्रजातियां देख सकते हैं।


Comments

Leave a comment